home page

5G Spectrum Auction: 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए चार कंपनियां मैदान में, इन शहरों में सबसे पहले शुरू होगी सेवाएं

इस नीलामी में कुल चार कंपनियां हिस्सा ले रही है जिनमें रिलायंस जियो, भारतीय एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और अदाणी समूह की अदाणी डाटा नेटवर्क्स लिमिटेड शामिल हैं।
 | 
5G Spectrum Auction: 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए चार कंपनियां मैदान में, इन शहरों में सबसे पहले शुरू होगी सेवाएं

देश में अगली पीढ़ी की दूरसंचार सेवाओं की शुरुआत के लिए 26 जुलाई से 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी शुरू होगी। इसमें कुल 72 गीगाहर्टज स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी। 

इस नीलामी से सरकार को करीब 4.3 लाख करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है। इस नीलामी में कुल चार कंपनियां हिस्सा ले रही है जिनमें रिलायंस जियो, भारतीय एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और अदाणी समूह की अदाणी डाटा नेटव‌र्क्स लिमिटेड शामिल हैं। 

सरकार का दावा है कि अगस्त के अंत तक देश में 5जी सेवा शुरू हो सकती है।

सबसे पहले इन शहरों में शुरू होगी सेवा

देश में 5जी सेवा सबसे पहले दिल्ली, लखनऊ, चंडीगढ़, गुरुग्राम, अहमदाबाद, कोलकाता, जामनगर, गांधीनगर, हैदराबाद, मुंबई, पुणे, बेंगलुरु और चेन्नई में शुरू होगी।

क्या है 5जी

5जी नेटवर्क अगली पीढ़ी का मोबाइल नेटवर्क है। यह एक नई वैश्विक वायरलेस प्रणाली है जो मुख्य रूप से तीन बैंड में काम करता है। 5जी से दूरसंचार सेवाएं और बेहतर होंगी। यह उपभोक्ताओं के साथ औद्योगिक क्रांति लाते हुए व्यवसायों को भी बदल देगा।

अभी इन देशों में 5जी सेवा उपलब्ध

मौजूदा समय में चीन, अमेरिका, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन, स्पेन, कनाडा, आस्ट्रेलिया, सऊदी अरब, इटली, फ्रांस, थाइलैंड और स्वीडन में उपलब्ध है।

यहां चल रहा ट्रायल

सरकार की ओर से ट्राई देश में 5जी सेवा का ट्रायल कर रहा है। अभी यह ट्रायल भोपाल, गुजरात के कांडला पोर्ट, बेंगलुरु मेट्रो और दिल्ली के एयरपोर्ट पर ट्रायल किया जा रहा है।

रिलायंस जियो ने सबसे ज्यादा अग्रिम राशि जमा की

नीलामी में हिस्सा लेने के लिए सबसे ज्यादा अग्रिम राशि रिलायंस जियो ने जमा की है। दूरसंचार विभाग के मुताबिक, रिलायंस जियो ने 14 हजार करोड़ रुपये, भारती एयरटेल ने 5,500 करोड़ रुपये, वोडाफोन आइडिया ने 2,200 करोड़ रुपये और अदाणी डाटा नेटव‌र्क्स ने 100 करोड़ रुपये की राशि जमा की है।

स्पेक्ट्रम का अपने कारोबार में इस्तेमाल करेगा अदाणी समूह

पहली बार स्पेक्ट्रम खरीदने जा रहे अदाणी समूह का कहना है कि वह अभी उपभोक्ता कारोबार में कदम नहीं रखेगा। अदाणी समूह का कहना है कि इस नीलामी में खरीदे जाने वाले स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल हवाई अड्डों से लेकर पो‌र्ट्स तक अपने कारोबार में किया जाएगा।

रिलायंस जियो और एयरटेल का नेटवर्क तैयार

रिलायंस जियो और भारती एयरटेल का दावा है कि उनका 5जी नेटवर्क पूरी तरह से तैयार है और स्पेक्ट्रम मिलने का इंतजार है। स्पेक्ट्रम मिलने के बाद कम से कम समय में 5जी सेवा शुरू कर दी जाएगी।

नीलामी के लिए यह बैंड उपलब्ध होंगे

600 मेगाह‌र्ट्ज700 मेगाह‌र्ट्ज800 मेगाह‌र्ट्ज900 मेगाह‌र्ट्ज1,800 मेगाह‌र्ट्ज2,100 मेगाह‌र्ट्ज2,300 मेगाह‌र्ट्ज3,30 मेगाह‌र्ट्ज26 गीगाह‌र्ट्ज3.4 गीगाह‌र्ट्ज

नंबर गेम

- 20 वर्ष के लिए होगी इस स्पेक्ट्रम की नीलामी

- 21,800 करोड़ रुपये की अग्रिम राशि जमा की चारों कंपनियों ने

- 10 प्रकार के बैंड उपलब्ध होंगे स्पेक्ट्रम के नीलामी के लिए

- 03 से छह माह के अंदर शुरू हो सकती है 5जी सेवा स्पेक्ट्रम की खरीदारी के बाद

- 10 हजार डिवाइस कनेक्ट हो सकेंगे 5जी से एक किलोमीटर के दायरे में

- 04 हजार डिवाइस कनेक्ट हो पाते हैं 4जी नेटवर्क से एक किलोमीटर के दायरे में

- 80 करोड़ ग्राहकों तक ब्राडबैंड की पहुंच है इस समय

5जी की खास बातें

10 गुना ज्यादा होगी 5जी की इंटरनेट स्पीड 4जी के मुकाबले30 गुना ज्यादा तेज होगा 5जी नेटवर्क 3जी के मुकाबले

- 10 हजार एमबीपीएस तक होगी 5जी नेटवर्क की स्पीड

- 200 एमबीपीएस की स्पीड मिलती है मौजूदा 4जी नेटवर्क में

- 200 से 400 एमबीपीएस होगी 5जी नेटवर्क की औसत स्पीड

- 05 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी 2 जीबी की मूवी 5जी में

- 5 जी सेवाओं के आने से मेटावर्स जैसी वर्चुअल रियलिटी तकनीक काफी समृद्ध होगी