home page

Banking System: बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरी, बैंकिंग सिस्टम को लेकर वित्त मंत्री ने किया बड़ा ऐलान

वित्त मंत्री ने बैंकों को यह सुझाव दिया कि लोन देने के मानकों को तंदुरुस्त रखना चाहिए, ताकि आम लोगों के लिए बैंकिंग से जुड़े काम आसान हो सके।
 | 
Banking System: बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरी, बैंकिंग सिस्टम को लेकर वित्त मंत्री ने किया बड़ा ऐलान

बैंक ग्राहकों के लिए अच्छी खबर है। अगर आप भी बैंक से लोन लेने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आपके लिए अब लोन लेना और आसान हो सकता है।

दरअसल, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बैंक‍िंग स‍िस्‍टम के बारे में जरूरी बयान दिया। वित्त मंत्री ने बैंकों को यह आदेश दिया कि वे ग्राहकों की जरूरत के हिसाब से बैंक‍िंग स‍िस्‍टम को और आसान बनाएं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि बैंकों को ग्राहकों की सुविधाओं पर और ध्यान देने की जरूरत है ताकि लोन लेने वालों के लिये इसकी प्रक्रिया आसान बन सके। इससे लोग बैंक से ज्यादा से ज्यादा जुड़ पाएंगे।

वित्त मंत्री ने दिया सुझाव

व‍ित्‍त मंत्री ने बैंकों को यह सुझाव दिया कि लोन देने के मानकों को तंदुरुस्त रखना चाहिए, ताकि आम लोगों के लिए बैंकिंग से जुड़े काम आसान हो सके।

दरअसल, कुछ दिन पहले उद्योग प्रतिनिधियों और वित्त मंत्री के बीच एक अहम बैठक में यह सुझाव दिया गया। इस व‍ित्‍त मंत्री ने बैंकों को इन सुझावों पर अमल करने की बात कही।

वित्त मंत्री के इस सुझाव पर अमल करने से एसबीआई, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई समेत सभी बैंकों के कस्‍टमर्स को फायदा म‍िलेगा।

एसबीआई (SBI) के चेयरमैन दिनेश कुमार खारा ने बताया कि स्टार्टअप की चिंता ज्यादा इक्विटी को लेकर है। बैठक में कई महत्वपूर्ण विषयों पर बात की गई।

ग्राहकों की सुविधाओं का रखें ध्यान

वित्त मंत्री ने कहा, 'बैंकों को ज्यादा-से-ज्यादा ग्राहक अनुकूल बनने की जरूरत है। लेकिन वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि यह प्रतिकूल जोखिम लेने की सीमा तक नहीं हो।

यह आपको लेने की जरूरत नहीं है। लेकिन आपको ग्राहकों की सुविधाओं को ध्यान रखना और अधिक-से-अधिक अनुकूल होने की जरूरत है।'

वित्त मंत्री के इस सुझाव पर सबीआई (SBI) के चेयरमैन दिनेश कुमार खारा ने बताया कि ग्राहकों की सुविधा के लिए बैंक में डिजिटलीकरण की प्रक्रिया बढ़ रही है।

इससे ग्राहकों को बैंकिंग से जुड़ी समस्याओं से राहत मिलेगी। वित्त मंत्री के इस ऐलान के बाद बैंकों में सुधार भी देखा गया है।