home page

कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु के लिए बड़ा अपडेट, इतने सालों में होगी बढ़ोतरी

Government Employees : उधर, वित्त एवं कार्मिक विभाग ने विभाग के प्रस्ताव पर अपनी स्वीकृति दे दी है।
 | 
कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु के लिए बड़ा अपडेट, इतने सालों में होगी बढ़ोतरी

Government Employees : उधर, वित्त एवं कार्मिक विभाग ने विभाग के प्रस्ताव पर अपनी स्वीकृति दे दी है। जल्द ही कर्मचारियों की सीमा 65 वर्ष से बढ़ाकर 67 वर्ष की जाएगी।

दरअसल, राज्य में सरकारी डॉक्टरों की भारी कमी को देखते हुए उनकी सेवानिवृत्ति की उम्र बढ़ाकर 67 साल की जा रही है. इसके लिए वित्त एवं कार्मिक विभाग ने स्वास्थ्य विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। दरअसल, राज्य में सरकारी डॉक्टरों की भारी कमी को देखते हुए उनकी सेवानिवृत्ति की उम्र बढ़ाकर 67 साल की जा रही है. इसके लिए वित्त एवं कार्मिक विभाग ने स्वास्थ्य विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

अब यह प्रस्ताव मुख्यमंत्री को भेजा जाएगा। इसी कैबिनेट की मंजूरी से गैर शैक्षणिक संवर्ग के डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की आयु 65 वर्ष से बढ़ाकर 67 वर्ष की जाएगी।इसके लिए 3 साल पहले से चर्चा हो रही है। 2019 में प्रदेश के गैर शैक्षणिक डॉक्टरों की आयु सीमा बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार किया गया था।जिसके बाद विभागीय मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी की सहमति ली गई। इसके बाद फाइल वित्त विभाग को भेजी गई। हालांकि 3 साल से यह मामला विभिन्न कारणों से अधर में लटका हुआ था।

इससे पहले, डॉ की सेवानिवृत्ति की आयु 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष की गई थी। हालांकि तब इसे 3 साल की बढ़ोतरी के साथ बढ़ाकर 65 कर दिया गया था। एक बार फिर इसे 2 साल के लिए बढ़ाने की तैयारी की गई है। डॉक्टरों को इस संबंध में एक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा, जिससे यह स्पष्ट हो जाएगा कि वह सेवा प्रदान करने के लिए चिकित्सकीय रूप से फिट है।

यदि अगले 2 वर्षों में डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की आयु नहीं बनाई जाती है, तो राज्य के लगभग 150 डॉक्टर सेवानिवृत्त हो जाएंगे। वहीं, राज्य में जल्द ही डॉक्टरों की नियुक्ति की जाएगी। जेपीएससी को विशेषज्ञ चिकित्सकों के 934 पदों सहित चिकित्सा अधिकारी के 234 पदों पर नियुक्ति के लिए मांग पत्र भेजा जाएगा।