home page

SBI ने किया ऐलान, अब लोन लेते समय नहीं लगेगा ये चार्ज, 100% छूट

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस में 50 से 100% की छूट देने की घोषणा की है।
 | 
SBI ने किया ऐलान, अब लोन लेते समय नहीं लगेगा ये चार्ज, 100% छूट

 SBI : SBI ने अपने ग्राहकों के लिए बड़ा तोहफा दिया है. SBI ने होम लोन लेते समय लगाए जाने वाले विभिन्न शुल्कों को रद्द कर दिया है। अब ग्राहकों को अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस में 50 से 100% की छूट देने की घोषणा की है। यह ऑफर 1 अगस्त 2022 से 30 सितंबर 2022 तक वैध है। एडवोकेट और वैल्यूअर फीस – वास्तविक खर्च में कोई बदलाव नहीं है।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस में 50 से 100% की छूट देने की घोषणा की है। यह ऑफर 1 अगस्त, 2022 से 30 सितंबर, 2022 तक वैध है।

एसबीआई की वेबसाइट के मुताबिक, बैंक ने होम और होम लोन (टेकओवर के अलावा) के लिए बेसिक प्रोसेसिंग फीस का 50% माफ कर दिया है। बैंक ने होम लोन टेकओवर और संबंधित टॉप अप के लिए मूल प्रसंस्करण शुल्क का 100% माफ कर दिया है।

एडवोकेट और वैल्यूअर फीस- वास्तविक खर्च में कोई बदलाव नहीं है, जो ग्राहक से वसूला जाएगा और अलग से वसूल किया जाएगा। एसबीआई की वेबसाइट पर कार्ड रेट पेज के अनुसार, इसका मूल प्रसंस्करण शुल्क कुल ऋण राशि का 0.35% प्लस जीएसटी या न्यूनतम 2,000 रुपये या अधिकतम 10,000 रुपये होगा।

होम लोन से संबंधित अन्य शुल्क :

जब आप होम लोन लेते हैं तो कई तरह के शुल्क लागू होते हैं। ये शुल्क ऋणदाता से ऋणदाता के लिए अलग-अलग होंगे। इसके अतिरिक्त, कुछ ऋणदाता अलग से शुल्क ले सकते हैं, जबकि अन्य व्यक्तिगत उधारदाताओं से एक साथ शुल्क ले सकते हैं।

अन्य शुल्कों में लॉगिन शुल्क, तकनीकी मूल्यांकन शुल्क, कानूनी शुल्क, फ्रैंकिंग शुल्क, पूर्व-ईएमआई शुल्क, वैधानिक या नियामक शुल्क, पुनर्मूल्यांकन शुल्क, बीमा प्रीमियम, नोटरी शुल्क और निर्णय शुल्क शामिल हैं।

एसबीआई होम लोन नवीनतम ब्याज़ दरें :

SBI बाहरी बेंचमार्क लिंक्ड लेंडिंग रेट: SBI के अनुसार बैंक का EBLR 15 जून, 2022 से 7.55% + CRP है। RLLR 7.15% + CRP है। हालांकि, क्रेडिट स्कोर के आधार पर जोखिम प्रीमियम लिया जाएगा।

एसबीआई मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड-बेस्ड लेंडिंग रेट्स: एसबीआई ने फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स (एमसीएलआर) की मार्जिनल कॉस्ट में 15 जुलाई, 2022 से 0.10 फीसदी की बढ़ोतरी की है।