home page

बुजुर्गों की खुशी की नहीं रहा ठिकाना, अब हर महीना खाते में आएगी इतने हजार रुपये पेंशन, जानिए जरूरी बातें

अगर आपकी उम्र 60 साल या उससे ज्यादा है तो फिर यह खबर आपके लिए बड़े ही काम की साबित होने जा रही है, जिसे लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है।
 | 
बुजुर्गों की खुशी की नहीं रहा ठिकाना, अब हर महीना खाते में आएगी इतने हजार रुपये पेंशन, जानिए जरूरी बातें

अगर आपकी उम्र 60 साल या उससे ज्यादा है तो फिर यह खबर आपके लिए बड़े ही काम की साबित होने जा रही है, जिसे लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। केंद्र व राज्य सरकार इन दिनों बुजुर्गों के खजाने का पिटारा खोले हुए है।

अगर आपके घर में भी बुजुर्ग हैं तो फिर अब मौज है, क्योंकि केंद्र सरकार ने बुजुर्गों के लिए एक ऐसी स्कीम की शुरुआत कर दी है, जिससे आपकी अब बल्ले-बल्ले होने जा रही है।

सरकार द्वारा नई स्कीम शुरू हुई, जिसका नाम पीएम किसान मानधन योजना है। इस योजना के अंतर्गत बुजुर्गों को 3,000 रुपये पेंशन दी जाएगी, जिससे आप मालामाल होने का ख्वाब पूरा कर सकते हैं। इस योजना का फायदा लेने के लिए सरकार की ओर से कुछ शर्तें रखी गई हैं, जिनका पालन करना जरूरी होगा।

योजना का फायदा लेने के लिए जानिए जरूरी शर्तें

पीएम मानधन योजना का फायदा लेने के लिए तमाम शर्तें रखी गई हैं, जिनका पालन करना जरूरी होगा। सबसे पहले आपका नाम पीएम किसान सम्मान निधि योजना से रजिस्टर्ड होना जरूरी है। इसके बाद लाभार्थी की उम्र कम से कम 60 साल होनी चाहिए। आप प्रतिदिन 2 रुपये बचाकर हर महीना 3,000 रुपये पेंशन ले सकते हैं। इस हिसाब से आपके खाते में में 36,000 रुपये पेंशन के रूप में दिए जाएंगे।

इस योजना से जुड़े के लिए आपको हर महीने 55 रुपये का निवेश करना होगा। अगर कोई व्यक्ति 40 वर्ष की उम्र में इस योजना से जुड़ता है तो 200 रुपये प्रति महीना का निवेश करना होगा। व्यक्ति की उम्र 18 साल से कम और 40 साल होनी जरूरी है।

इस काम को कराने में ना करें देरी

इसके लिए आपको योजना के लिए कॉमन सर्विस सेंटर में पंजीकरण कराना होगा। CSC सेंटर में पोर्टल पर श्रमिक अपना पंजीकरण करा सकते हैं। सरकार ने इस योजना के लिए वेब पोर्टल बनाया है। इन सेंटर्स के जरिये ऑनलाइन सभी जानकारी भारत सरकार को चली जाएगी।

वहीं, पंजीकरण के लिए आपको अपना आधार कार्ड, बचत या जनधन बैंक खाते की पासबुक, मोबाइल नंबर चाहिए होगा। इसके अलावा सहमति पत्र देना होगा जो बैंक ब्रांच में भी देना होगा जहां पर श्रमिक का बैंक खाता होगा।