home page

पेट्रोल पंप खोलने के लिए पड़ती है इतने पैसे की जरूरत, ऐसे मिलता है लाइसेंस

अगर आप पेट्रोल पंप खोलना चाहते हैं तो यह आपके लिए काम की खबर है। बता दें कि ऑयल मार्केटिंग कंपनियों की तरफ से समय-समय पर जानकारी दी जाती है।
 | 
पेट्रोल पंप खोलने के लिए पड़ती है इतने पैसे की जरूरत, ऐसे मिलता है लाइसेंस

Business Ideas : पेट्रोल पंप को पूरी दुनिया में बंपर लाभ का बिजनेस माना जाता है। ये है भी। जिसे शुरू करना हर किसी के बस की बात नहीं है। पेट्रोल पंप हर किसी की जरूरतों को पूरा करता है।

आप चाहे पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करें या फिर प्राइवेट का। जो गाड़ी यूज होगी। उसके लिए पेट्रोल और डीजल का होना जरूरी होता है। यही नहीं, कमर्शियल परिवहन का सिस्टम भी पेट्रोल पंप पर टिका है।

गौरतलब है कि पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग्स की तरफ से ही पेट्रोल पंप को खोलने को लेकर लाइसेंस प्रदान किया जाता है। यही नहीं, सरकारी के अलावा प्राइवेट सेक्टर की कंपनियां भी पेट्रोल पंप खोलने का लाइसेंस जारी करती हैं।

BPCL, HPCL, IOCl, रिलायंस, एस्सार ऑयल, इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड और ऑयल एंड नैचुरल गैस कारपोरेशन (ONGC) जैसी कंपनियां हैं। जिनकी तरफ से यह लाइसेंस जारी होता है।

Petrol Pump का कारोबार कोई भी कर सकता है। आवेदक की उम्र कम से कम 21 साल होनी चाहिए और वह अधिकतम 55 वर्षों का हो सकता है। उसका भारतीय नागरिक होना जरूरी है।

NRI के मामले में आवेदक का भारत में कम से कम 182 दिन रहना जरूरी है। सामान्य वर्ग के लिए मिनिमम एजुकेशन 12वीं और आरक्षित वर्ग के लिए मिनिमम एजुकेशन 10वीं जरूरी है। शहरी क्षेत्रों में पेट्रोल पंप खोलने के लिए ग्रैजुएट होना जरूरी है।

इसमें कोई शक नहीं है कि Petrol Pump एक मोटा मुनाफा वाला बिजनेस है, लेकिन इसमें निवेश भी बड़ा चाहिए। ग्रामीण क्षेत्रों में Petrol Pump डीलरशिप के लिए कम से कम 15 लाख Rupees की जरूरत होती है।

शहरी क्षेत्र के लिए कम से कम 30-35 लाख Rupees की जरूरत होती है। अधिकतम 2 करोड़ Rupees तक भी खर्च हो सकते हैं। ब्लैक लिस्टेड क्षेत्रों में Petrol Pump नहीं खोला जा सकता है।

फंड इकट्ठा करने के लिए आवेदक बैंक डिपॉजिट, बॉन्ड एंड शेयर, फिक्स्ड डिपॉजिट, म्यूचुअल फंट्स, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, पोस्ट ऑफिस स्कीम और सेविंग स्कीम का इस्तेमाल कर सकता है।

आवेदक की अपनी जमीन होगी तो अच्छी बात है, या फिर लंबी अवधि के लिए जमीन लीज पर होनी चाहिए। पेट्रोल पंप खोलने के लिए 800-1200 स्क्वेयर मीटर का स्पेस जरूरी है।

ऑयल मार्केटिंग कंपनियों की तरफ से समय-समय पर Petrol Pump डीलरशिप को लेकर विज्ञापन जारी किया जाता है। यह आवेदन ऑयल मार्केटिंग कंपनियों की वेबसाइट पर जाकर किया जा सकता है।

अगर नए क्षेत्र में Petrol Pump खोलने की योजना है तो एक ज्यादा आवेदन आने पर लॉटरी सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा Petrol Pump खोलने के लिए सर्टिफिकेशन और NOC की जरूरत होती है।

फायर डिपार्टमेंट, नगर निगम से परमिशन की जरूरत होगी। इसके अलावा कुछ अन्य तरह की लाइसेंसिंग की जरूरत होती है।

जरूरी बातें

  • आयु :आवेदक न्यूनतम 21 वर्ष और अधिकतम 55 वर्ष का होना चाहिए।
  • आवेदक एक भारतीय नागरिक होना चाहिए, NRI के मामले में आवेदक को भारत में 182 दिनों से अधिक रहना चाहिए।
  • जन्म प्रमाण पत्र:10वीं क्लास की मार्कशीट।
  • शिक्षा योग्यता:सामान्य वर्ग के लिए वह 12वीं  पास होना चाहिए और एससी / एसटी / ओबीसी श्रेणी के लिए आवेदक कम से कम 10वीं पास होना चाहिए।
  • शहरी क्षेत्रों में एक पेट्रोल पंप खोलने के लिए आवेदक ग्रेजुएट होना आवश्यक है।
  • CC2 श्रेणी के तहत स्वतंत्रता सेनानियों के लिए न्यूनतम शिक्षा की योग्यता शर्तें लागू नहीं होती हैं।
  • न्यूनतम निवेश राशि: ग्रामीण क्षेत्रों में डीलरशिप 15 लाख रुपये से शुरुआत होती है।
  • अधिकतम निवेश राशि: शहरी क्षेत्रों में डीलरशिप के लिए 2 करोड़ Rupees या उससे अधिक।
  • आप जहां पेट्रोल पंप खोलना चाहते हैं, उस क्षेत्र को ब्लैक लिस्टेड या बहिष्कृत क्षेत्रों में नहीं होना चाहिए।

ग्रामीण क्षेत्रों में Petrol Pump खोलने के लिए आवेदक को न्यूनतम 15 लाख से 20 लाख रुपये की आवश्यकता होती है, जबकि, शहरी क्षेत्रों में Petrol Pump खोलने के लिए निवेश राशि 30 लाख से 35 लाख रुपये की  जरूरत होती है। 

 (यदि भूमि स्वयं की है) होती है। नकदी और गहनों के अलावा, आवेदक Petrol Pump खोलने के लिए निम्नलिखित फंड का उपयोग कर सकते हैं:

  • बैंक डिपॉजिट
  • बॉन्ड और शेयर
  • फिक्स्ड डिपॉजिट
  • म्यूचुअल फंड्स
  • राष्ट्रीय बचत पत्र
  • डाक योजना
  • बचत खाता

अधिसूचना के अनुसार आवेदक के पास अपने नाम पर भूमि होनी चाहिए या ऐसा क्षेत्र जहां भूमि को लंबे समय तक पट्टे पर लिया जा सकता है। रिटेल आउटलेट दो प्रकार के होते हैं, जिन्हें निम्नलिखित स्थान के अनुसार खोला जा सकता है:

नियमित रिटेल आउटलेट: राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों पर; शहरी और अर्धशहरी क्षेत्र
ग्रामीण रिटेल आउटलेट: ग्रामीण क्षेत्रों में लेकिन राष्ट्रीय राजमार्गों पर नहीं
800 वर्ग मीटर–1200 वर्ग मीटर का क्षेत्र पेट्रोल पंप खोलने के लिए उपयुक्त होता है।

रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए आवेदक को 1000 रुपये की एप्लीकेशन फीस जमा करना आवश्यक है। और रिटेल आउटलेट के लिए 100 रुपये, वहीं SC / ST / OBC श्रेणी के लोगों को एप्लीकेशन फीस पर 50% की छूट दी जाती है।

यदि कोई आवेदक उसी उद्देश्य के लिए और संबंधित क्षेत्र में भूमि का मालिक है तो उसे रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए 15 लाख रुपये व  ग्रामीण रिटेल आउटलेट के लिए 5 लाख रुपये का भुगतान करना होगा।

कंपनी के स्वामित्व वाली डीलरशिप के लिए, आवेदक को ग्रामीण स्थल के लिए 10 लाख रुपये और रेगुलर साइट के लिए 30 लाख रुपये का भुगतान करना होगा।

अग्रणी Oil मार्केटिंग कंपनियां (OMC) देश के विभिन्न शहरों और स्थानों पर Petrol Pumps को स्थापित करने की अपनी योजनाओं से संबंधित जानकारी समाचार पत्र में या ऑनलाइन विज्ञापन प्रकाशित करती हैं।

आवेदक स्थान या क्षेत्र में डीलरशिप खोलने के लिए OMC की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं या विज्ञापन में प्रकाशित पते पर लेटर लिख कर जानकारी हांसिल कर सकते हैं।

Petrol Pump खोलने के लिए, किसी आवेदक को बिना किसी परेशानी और तनाव के अपनी डीलरशिप चलाने के लिए कुछ सर्टिफिकेट और परमिशन लेने की आवश्यकता होती है। इनमें से कुछ निम्नलिखित हैं।

  • स्थान के दस्तावेज ( वेरिफाइड )
  • लाइसेंसिंग प्राधिकरण से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (NOC)
  • नगर निगम विभाग (MCD) और अग्नि सुरक्षा कार्यालय से अनुमति
  • प्रमाणन और संबंधित अधिकारियों से NOC

एक Petrol Pump का स्थान किसी व्यवसाय की सफलता या विफलता में महत्वपूर्ण पहलू है। Petrol Pump पंप व्यस्त राष्ट्रीय या राज्य राजमार्गों, आवासीय क्षेत्रों, लोकप्रिय बाज़ारों, और उच्च यातायात के साथ-साथ सड़कों पर होना चाहिए।

लाइसेंस प्राप्त करने के बाद, आवेदक को OMC के निर्देशों और दिशानिर्देशों के अनुसार Petrol Pump और तेल बंकर बनाना होगा।

इंडियन ऑयल को भारत की सबसे बड़ी और सबसे लाभदायक तेल कंपनी माना जाता है। हालांकि, यह ग्राहकों पर निर्भर करता है कि कौन सी डीलरशिप उन्हें बाकी की तुलना में अधिक लाभ दे रही है।

Petrol Pump डीलरशिप विभिन्न प्रमुख कंपनियों से प्राप्त की जा सकती है जिसमें इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, रिलायंस पेट्रोलियम, शेल, एस्सार ऑयल, ओएनजीसी आदि शामिल हैं।

भारत में एक Petrol Pump शुरू करने के लिए, आवेदक को राज्य की योग्यता शर्तों को पूरा करना होगा, निवेश करने के लिए वर्किंग कैपिटल दिखाने की आवश्यकता है, 21 वर्ष से 55 वर्ष की आयु होनी चाहिए और व्यक्ति कम से कम 12वीं पास होना चाहिए।

Petrol Pump  का लाइसेंस (Petrol Pump License) राज्य के प्राधिकरण द्वारा प्राप्त किया जा सकता है, एनओसी के साथ उस विशेष राज्य के नगर निगम विभाग से अनुमति और स्थान के सर्टिफिकेट की कॉपी भी आपको लेनी होगी।

Petrol Pump शुरू करने के लिए न्यूनतम निवेश 15 लाख रुपये है, जो कि रिटेल आउटलेट के लिए पर 35 लाख रुपये तक जा सकता है।