अब इंडिया रहेगा ऑनलाइन

SBI समेत इन बैंको में कभी नहीं डूबेगा आपका पैसा, आरबीआई ने जताया भरोसा

न्यूज डेस्क, दून हॉराइज़न, नई दिल्ली

देश में कई सरकारी और प्राइवेट बैंक है, लेकिन क्या आपको पता है कि कौन सा बैंक सबसे सेफ है? रिजर्व बैंक की तरफ से सबसे भरोसेमंद बैंक की लिस्ट जारी की गई है. आप भी देख लें कि आपका खाता किस बैंक में है और वह कितना सुरक्षित है.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कहा है कि SBI, HDFC Bank और ICICI Bank घरेलू स्तर पर फाइनेंशियल सिस्टम के लिहाज से महत्वपूर्ण बैंक बने हुए हैं. देश में फाइनेंशियल सिस्टम के लेवल पर ये इतने बड़े बैंक हैं कि ये ‘डूब’ नहीं हो सकते.

रिजर्व बैंक को अगस्त, 2015 से हर साल इसी महीने में फाइनेंशियल सिस्टम के लिहाज से महत्वपूर्ण बैंकों के नामों की जानकारी देने की जरूरत होती है. नियमों के मुताबिक, ऐसे संस्थानों को प्रणाली के स्तर पर महत्व (SIS) के आधार पर चार श्रेणी में रखा जा सकता है.

केंद्रीय बैंक ने बयान में कहा कि जहां ICICI Bank पिछले साल की तरह ही श्रेणी आधारित संरचना में बना हुआ है. वहीं SBI और HDFC Bank उच्च श्रेणी में चले गए हैं. एसबीआई श्रेणी (बकेट) तीन से श्रेणी चार में स्थानांतरित हो गया और एचडीएफसी बैंक श्रेणी एक से श्रेणी दो में स्थानांतरित हो गया.

इसका मतलब है कि बैंकों को जोखिम भारांश परिसंपत्तियों (आरडब्ल्यूए) के प्रतिशत के रूप में अतिरिक्त सामान्य इक्विटी शेयर पूंजी (टियर 1) को पूरा करना होगा.घरेलू लेवल पर व्यवस्था के लिहाज से महत्वपूर्ण बैंक (डी-एसआईबी) को लेकर एक अप्रैल, 2025 से एसबीआई के लिए अधिभार 0.8 प्रतिशत होगा.

वहीं, HDFC Bank के लिए 0.4 प्रतिशत होगा. आरबीआई ने कहा कि इसीलिए 31 मार्च, 2025 तक एसबीआई और एचडीएफसी बैंक के लिये डी-एसआईबी अधिभार क्रमश: 0.6 प्रतिशत और 0.20 प्रतिशत होगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.