अब इंडिया रहेगा ऑनलाइन

अब इंटरनेट कनेक्टिविटी की नहीं होगी दिक्कत, सीधे सैटेलाइट से चलेगा Jio का इंटरनेट

टेक डेस्क, दून हॉराइज़न, नई दिल्ली

नई रिपोर्ट में सामने आया है कि टेलिकॉम ब्रैंड ने इंडियन नेशनल स्पेस प्रमोशन एंड ऑथराइजेशन सेंटर (IN-SPACe) को सभी जरूरी  दस्तावेज सौंप दिए हैं और रेग्युलेटर से अनुमति मिलने के बाद देश में जियो की सैटेलाइट कम्युनिकेशन सेवा मिलने लगेगी। 

सैटेलाइट इंटरनेट सेवाओं से जुड़े बदलावों की जानकारी देते हुए Economic Times ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि जियो को जल्द ही IN-SPACe की ओर अप्रूवल और ऑथराइजेशन मिल सकता है। इसके बाद देशभर में इसकी सैटेलाइट सेवाओं का फायदा दिया जाएगा।  बता दें, IN-SPACe से अप्रूवल मिलने के लिए कई मंत्रालयों से सिक्योरिटी क्लियरेंस लेना पड़ता है।  

पिछले साल दिखी थी सैटेलाइट टेक्नोलॉजी

रिलायंस जियो ने पिछले साल India Mobile Congress आयोजन में अपनी JioSpaceFiber टेक्नोलॉजी पेश की थी और इसका डेमो दिया था। कंपनी ने बताया है कि इसने अपनी JioSpaceFiber आधारित गीगा फाइबर सेवा के साथ गुजरात में गिर, छत्तीसगढ़ में कोरबा, उड़ीसा में नबरंगपुर और असम में ONGC-जोरहाट जैसी रिमोट लोकेशंस को कनेक्ट कर लिया है। 

इन विकल्पों के साथ होगी जियो की टक्कर

जियो के सैटेलाइट आधारित इंटरनेट नेटवर्क की टक्कर एलन मस्क के Starlink के अलावा यूरोसैट ग्रुप के OneWeb और  अमेजन के Project Kuiper से होगी,  जो जल्द ही भारत में इंटरनेट आधारित सेवाएं शुरू करना चाहते हैं। हालांकि जियो को भी नई सेवा शुरू करने में वक्त लगेगा और अभी साफ नहीं है कि इसके लिए  प्लान्स की कीमत क्या होगी। 

जियो ने अपनी इंटरनेट आधारित सेवा के लिए  सैटेलाइट नेटवर्क प्रोवाइडर Société Européenne des के साथ पार्टनरशिप की है। कंपनी Société Européenne des के मीडियम और लो-अर्थ ऑर्बिट इस्तेमाल करते हुए इंटरनेट सेवाएं देगी। 

Leave A Reply

Your email address will not be published.