अब इंडिया रहेगा ऑनलाइन

एयर इंडिया की फ्लाइट में शाकाहारी भोजन में मिला चिकन का टुकड़ा, मचा बवाल

वायरल डेस्क, दून हॉराइज़न, नई दिल्ली

यात्री ने इसकी शिकायक एक्स (ट्विटर) पर की है। यात्री का कहना है कि वह शाकाहारी है लेकिन उसके शाकाहारी भोजन में चिकन का टुकड़ा पाया गया जिससे उसे काफी परेशानी हुई। 

रिपोर्ट के मुताबिक, मामला एयर इंडिया की कालीकट से मुंबई जाने वाली फ्लाइट का है। एक यात्री वीरा जैन ने एक्स पर जब अपनी परेशान करने वाली आपबीती सुनाई तो मजबूरन एयर इंडिया को भी जवाब देना पड़ा। वीरा जैन को ऐसा भोजन परोसा गया जिस पर शाकाहारी का लेबल लगा था, लेकिन उन्हें यह देखकर हैरानी हुई कि उसमें चिकन के टुकड़े थे।

पहले से ही एक घंटे की देरी से चल रही फ्लाइट संख्या AI582 निर्धारित शाम 6:40 बजे के बजाय शाम 7:40 बजे रवाना हुई थी। 

इसके बाद जब रास्ते में उन्हें खाना परोसा गया तो उसके अंदर नॉन-वेज का टुकड़ा देखकर वह हैरान थीं। उन्होंने इसकी फोटो क्लिक कीं और उन्हें सोशल मीडिया पर शेयर किया। इसमें देखा जा सकता है कि खाने की पैकेजिंग पर स्पष्ट रूप से “शाकाहारी” लिखा हुआ था।

वीरा जैन ने मामले की सूचना केबिन सुपरवाइजर को दी। उनका नाम सोना था, जिन्होंने तुरंत माफी मांगी और स्वीकार किया कि अन्य यात्रियों ने भी इसी तरह की शिकायतें दर्ज कराई थीं।

यात्री ने आपबीती बताते हुए लिखा, “जब मैंने केबिन सुपरवाइजर (सोना) को बताया तो उसने माफी मांगी और मुझसे कहा कि मेरे और मेरे दोस्त के अलावा अन्य लोगों ने भी इसी तरह की शिकायतें की हैं। हालांकि, जब मैंने चालक दल को इस बारे में बताया तो उन्होंने शाकाहारी भोजन करने वाले अन्य यात्रियों को इस संबंध में कोई अलर्ट नहीं किया।

उन्होंने कोई एक्शन नहीं लिया।”शिकायत पर रिप्लाई करते हुए एयर इंडिया ने यात्रा ने ट्वीट डिलीट करने की अपील की। एयरलाइंस ने लिखा, “आपसे निवेदन है कि (दुरुपयोग से बचने के लिए) कृपया ओपन ट्वीट से की गई शिकायत को डिलीट कर लें।

उसे अपने PNR के साथ हमारे DM (मैसेज) में शेयर करें।” इससे पहले यात्री ने बताया कि उनके खाने में गड़बड़ी और फ्लाइट में देरी का इतना असर पड़ा, जिसके कारण जैन के दोस्त की मुंबई से अहमदाबाद की कनेक्टिंग ट्रेन छूट गई, जो रात 11 बजे के लिए निर्धारित थी। जैन की मित्र वाघेला मित्तल ने भी अपनी शिकायतों के साथ पोस्ट साझा किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.