अब इंडिया रहेगा ऑनलाइन

साँप से भी ज्यादा जहरीली होती है ये चीज़, पुरुषों को रहना चाहिए सावधान

न्यूज डेस्क, दून हॉराइज़न, नई दिल्ली

चाणक्य नीति, आचार्य चाणक्य का प्रसिद्ध ग्रन्थ है। इस किताब में उन्होंने मनुष्य के जीवन पर बहुत कुछ कहा है। लोगों का मानना है कि चाणक्य नीति के नियमों का पालन करने से व्यक्ति सफल हो सकता है।

साथ ही, आचार्य चाणक्य ने अपनी पुस्तक चाणक्य नीति में कई बातों का उल्लेख किया है जिनसे लोगों को हमेशा दूर रहना चाहिए। पुस्तक में आचार्य चाणक्य ने कहा कि जीवन में कभी भी कुछ बर्दाश्त नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आपकी छवि खराब होती है और आप कभी खुश नहीं रह सकते।

जैसा कि चाणक्य ने कहा, अपमान का घूंट जहर से भी ज्यादा कड़वा होता है। किसी भी व्यक्ति को इसे सहन नहीं करना चाहिए। कई बार आप मज़बूरी में अपमानित हो जाते हैं, लेकिन इसके बाद आप पूरे जीवन घूटकर रहते हैं।

चाणक्य नीति कहता है कि अगर कोई आपको एक बार अपमानित करता है तो आप उसे नजरअंदाज कर सकते हैं, लेकिन बार-बार अपमान करने वालों को जवाब देना चाहिए क्योंकि बिना कारण अपमान सहना गलत है।

चाणक्य नीति के अनुसार, बार-बार अपमान सहने वाले व्यक्ति को समाज में उच्च स्थान भी नहीं मिलता और लोग उसे नापसंद करने लगते हैं। ऐसे में अगर कोई आपका अपमान करता है तो उसे रोकना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.