अब इंडिया रहेगा ऑनलाइन

घर से बाहर रहता था पति तो जवान बहू बनाने लगी ससुर संग सम्बन्ध 

न्यूज डेस्क, दून हॉराइज़न, नई दिल्ली

Sasur Bahu Affair : अकेलापन की खीझ और पति पर गुस्से ने एक महिला को ऐसे मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है जिससे बाहर निकलने का रास्ता उसे दिखाई नहीं दे रहा है। 36 साल की जेनी (बदला हुआ नाम) का रिश्ता सौतेले ससुर के साथ बन गया।

तन्हाई से जूझ रही जेनी को जब एक पुरुष का साथ मिला तो वो हर मर्यादा लांघ गई। लेकिन अब वो पछतावे से भर गई है। उसे समझ नहीं आ रहा है कि पति के साथ रिश्ते को कैसे कायम रखे। 

36 साल की जेनी की शादी को 8 साल हो चुके हैं। बतौर जेनी, उसके पति महीने में 15 से 20 दिन  काम के सिलसिले में घर से बाहर ही रहते हैं। इतना ही नहीं कोई संतान नहीं होने की वजह से भी जेनी अंदर से परेशान थी।

पति के जाने के बाद वो घर में अकेली रहती थी। वो खुद को काफी अकेला महसूस करती थी। इसे लेकर पति से भी झगड़े हुए। लेकिन पति का यही जवाब होता था काम नहीं करूंगा तो घर कैसे चलेगा। वो कुछ बोल नहीं पाती थी। 

जेनी ने बताया कि उसकी सास कम उम्र के पुरुष से दूसरी शादी करके दूसरे शहर में रहती है। एक दिन सौतेले ससुर किसी काम से उसके शहर आए और कुछ दिन के लिए उसके घर पर रुक गए। जेनी ने आगे बताया कि पति उनके आने के एक दिन बाद ही काम के सिलसिले में बाहर चले गए।

रात के वक्त डिनर करने के बाद जेनी और ससुर के बीच काफी बातचीत हुई। फिर दोनों सोने चले गए। जेनी बताती हैं कि पता नहीं क्यों लेकिन उस रात उसके मन में सौतेले ससुर को लेकर गलत ख्याल बार-बार आ रहे थे। 

जेनी के मुताबिक, “अगले दिन मेरे ससुर किसी काम से बाहर निकले पर दोपहर बाद वापस लौट आए। लंच के बाद हमने काफी बातचीत की। तभी सौतेले ससुर का हाथ मेरे कंधे पर आ गया और उन्होंने पूछा कि कोई तकलीफ तो नहीं,  मुझे पता चला है कि स्टीव (बदला हुआ नाम) ज्यादातर बाहर ही रहता है।

ये सुनकर मुझे रोना आ गया। मैं फूट पड़ी और अपना दर्द बयां कर दिया। उस रात पता नहीं कैसे हमारे बीच संबंध बन गया। दो दिन तक ऐसा चलता रहा। मुझे उनका साथ अच्छा लगने लगा था। मैं समाज की बनाई हर मर्यादा को तोड़ चुकी थी। फिर वो चले गए। दो-तीन महीने बाद उनका फिर से घर आना हुआ। हमारे बीच फिर संबंध बने।

हाल ही में मेरे सौतेले ससुर का कॉल आया और उन्होंने माफी मांगते हुए कहा कि मुझसे गलती हो गई। हमारे बीच जो कुछ भी हुआ है उसे भूल जाना। नहीं तो सबकुछ तबाह हो जाएगा। उनके फोन के बाद मुझे होश आया कि वाकई हमने जो किया वो कितना गलत था।

अब यही बात मुझे खाए जा रही है। समझ नहीं आ रहा है कि पति से कैसे नजर मिलाऊं। कभी सोचती हूं कि उन्हें सब सच-सच बता दूं। आत्महत्या का भी ख्याल आता है। बताइए मैं क्या करूं?” 

एक्सपर्ट की राय

आपने जो किया उसके लिए सिर्फ आप जिम्मेदार नहीं हैं। इसके लिए आपके पति की बेरुखी और आपके ससुर भी बराबर के जिम्मेदार हैं। आपने अकेलेपन की वजह से जो कदम उठाया उसे सही तो नहीं ठहराया जा सकता पर कई बार मन की चाहत मर्यादा की दीवार तोड़ जाती है।

अच्छी बात ये है कि अब आपको अपनी गलती का एहसास हो गया है। कहते हैं सच्चा पश्चाताप सारे मैल धो देता है। आपका मैल भी धुल चुका है। आपके लिए अच्छी बात ये है कि ससुर ने खुद ही कदम पीछे खींच लिए हैं और तीसरा कोई ऐसा नहीं जो आपको इस बात के लिए परेशान कर सके।

इसलिए बेहतर होगा कि आप भी इस संबंध को बुरा सपना समझ कर भूल जाइए। पति को सच बताने से उनका आपसे और अपनी मां के साथ भी रिश्ता खराब हो सकता है। आत्महत्या किसी समस्या का समाधान नहीं। कोशिश कीजिए कि खुद को किसी काम में व्यस्त रखें।

पति के साथ कहीं बाहर जाने का प्लान भी कर सकती हैं। इससे आप दोनों के रिश्तों में आया ठंडापन भी खत्म होगा और बुरे ख्यालों से भी छुटकारा मिलेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.