अब इंडिया रहेगा ऑनलाइन

सफर होगा महंगा! 1 अप्रैल से इन टोल प्लाजा पर देना होगा ज्यादा टोल टैक्स

होली के बाद टोल शुल्क की नई दरें तय कर सार्वजनिक सूचना जारी की जाएगी. नई दरें प्रभावी होने के बाद दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर सफर करने वाले लाखों वाहन चालकों की जेब पर बोझ बढ़ जाएगा।

एनएचएआई ने ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे समेत अन्य एक्सप्रेसवे पर टोल शुल्क वसूली और रखरखाव की जिम्मेदारी एक निजी कंपनी को दी है। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर धीरज सिंह ने बताया कि इन कंपनियों के अनुबंध के मुताबिक हर साल एक निश्चित राशि से टोल दरों में बढ़ोतरी की जा सकती है.

उन्होंने कहा कि एक अप्रैल से ईस्टर्न पेरिफेरल और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे समेत ज्यादातर टोल सड़कों पर टोल दरों में पांच फीसदी की बढ़ोतरी लागू की जाएगी.

पूर्णांक बढ़ जाएगा

कुछ जगहों पर टोल शुल्क पांच फीसदी से ज्यादा बढ़ सकता है. दरअसल, अगर पांच प्रतिशत बढ़ोतरी के बाद टोल शुल्क 63, 64 रुपये या 89, 54 रुपये होगा, तो ऐसी राशि पूर्णांक में बदल जाएगी। यानी टोल शुल्क 64 रुपये की जगह 65 रुपये, 89 रुपये की जगह 90 रुपये या इसी तरह की राशि।

जो दो-तीन रुपये अधिक हो सकती है, निर्धारित की जा सकती है. इसी प्रकार यदि किसी यात्रा के लिए निर्धारित राशि 81, 51 या इसके समान है तो उसे घटाकर पूर्णांक राशि निर्धारित की जा सकती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.