उप्र के सभी 75 जिलों में होंगे स्टेडियम: गिरीश यादव

उप्र के सभी 75 जिलों में होंगे स्टेडियम: गिरीश यादव
उप्र के सभी 75 जिलों में होंगे स्टेडियम: गिरीश यादव

-ओडीओपी की तर्ज पर हर जिले का होगा अपना अलग एक खेल

-युवाओं की खेल की प्रतिभा निखारने के लिए हो रहा सतत प्रयास

लखनऊ, 10 मई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में खेल और खिलाड़ियों के लिए पिछले कार्यकाल में कई महत्वपूर्ण कदम उठाए। अपने दूसरे कार्यकाल में योगी सरकार की तैयारियों और प्रयास के संबंध में खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार गिरीश यादव ने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत की।

खेल मंत्री गिरीश यादव ने कहा कि खेल से युवाओं को जोड़ने का हम सबका प्रयास है। ग्रामीण अंचल में नवयुवक मंडल दल और महिला मंगल दल है, उसे सक्रिय किया जा रहा है। हमारी सरकार ने निर्णय लिया है कि ग्राम पंचायतों में मौजूद खेल के मैदान को ग्राम विकास विभाग और पंचायती राज विभाग के सहयोग से विकसित किया जाएगा। उस मैदान को खेल के योग्य तैयार किया जाएगा। गांव के लोग भी खेल में आकर अपनी भूमिका अदा कर सकें। खेल में कोई रुकावट न आए, इसके लिए खेल सामग्री भी हम गांव-गांव तक पहुंचाने की योजना तैयार कर रहे हैं। हमारा सरकार का प्रयास है कि गांव से भी खेल की प्रतिभाएं निकल कर बाहर आएं।

स्टेडियम की स्थिति पर उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में खेल विभाग काम करता है। ग्रामीण अंचल में युवा कल्याण विभाग काम करता है। प्रदेश के 71 जिलों में स्टेडियम बने हुए हैं। सरकार की योजना है कि जल्द ही संभल और चंदौली जैसे चार बचे हुए जिलों में भी स्टेडियम का निर्माण कराया जाए। इसकी योजना तैयार कर ली गयी है।

खेल मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में हम खिलाड़ियों के लिए कई और भी महत्वपूर्ण कदम उठाने जा रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय खिलाड़ी होने के बावजूद उनका कहीं समायोजन नहीं हो पाता था। हमारी सरकार इस बात पर विचार कर रही है कि उन्हें भी सरकारी सेवा में लाया जाए। ताकि युवा खेल की तरफ आकर्षित हों।

गिरीश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में खेल विश्वविद्यालय नहीं था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयास से मेरठ जिले में खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है। आने वाले समय में उत्तर प्रदेश खेल की दृष्टि से बहुत समृद्ध होने वाला है।

तीन स्पोर्ट्स कॉलेजों की जल्द होगी शुरुआत

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री ने कहा कि योगी सरकार खिलाड़ियों को संसाधनों से लैस करने का प्रयास कर रही है। खेलने के लिए मैदान, खेल सामग्री समेत अन्य संसाधन जुटाने में खिलाड़ियों को बड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी। उत्तर प्रदेश में जब से योगी आदित्यनाथ की सरकार बनी है, तब से खेल और खिलाड़ियों, दोनों की चिंता की जा रही है। स्पोर्ट्स कॉलेज खोले जाने पर भी सरकार तेजी से विचार कर रही है। प्रदेश में तीन स्पोर्ट्स कॉलेज निर्माणाधीन हैं। उन्हें तेजी से पूरा करने पर जोर दिया जा रहा है।

ओडीओपी की तर्ज पर हर जिले का होगा अपना एक खेल

खेल मंत्री गिरीश यादव से जब यह पूछा गया कि सरकार का किन विशेष खेलों पर अधिक फोकस है ? तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार ने खेलो इंडिया खेलो के तहत एक जिला एक खेल योजना बढ़ाने का प्रयास किया है। केंद्र सरकार की तरफ से इस योजना को मंजूरी मिल गई है। उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में इस प्रकार के खेल को बढ़ावा दिया जाएगा। हर जिले का अपना एक अलग खेल होगा। वहां गांव से लेकर जिला मुख्यालय तक खेल के लिए विशेष प्रयास किए जाएंगे।

इसके साथ ही उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि भाजपा की सरकार बनने के बाद से उत्तर प्रदेश में युवा कल्याण विभाग की तरफ से ग्रामीण अंचल में भी खेल के लिए मैदान विकसित किए गए हैं। खेल को आगे बढ़ाने के लिए, खेल को और शक्तिशाली बनाने के लिए खेल से युवाओं को जोड़ने के लिए हमारी सरकार का सतत प्रयास चल रहा है।

हिन्दस्थान समाचार/दिलीप शुक्ला

Leave A Reply

Your email address will not be published.