हिरासत में महिला ने आशा ज्योति केन्द्र में लगाई फांसी

कानपुर : हिरासत में महिला ने आशा ज्योति केन्द्र में लगाई फांसी

– चोरी की घटना में उन्नाव की महिला को नवाबगंज थाना पुलिस ने था पकड़ा

– रात हो जाने के चलते हिरासत में भेजा गया था महिला को आशा ज्योति केन्द्र

– घटना देख केन्द्र में तैनात कर्मियों के होश उड़े, आलाधिकारी मौके पर जांच कर कार्रवाई में जुटे

कानपुर, 09 मई (हि.स.)। कानपुर जनपद के स्वरूप नगर थाना क्षेत्र में बने रानी लक्ष्मी बाई आशा ज्योति में सोमवार को उस वक्त हड़कंप मच गया, जब एक महिला का शव संदिग्ध परिस्थितियों में बाथरूम में फांसी के फंदे से लटका मिला। आनन फानन में इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। आलाधिकारी घटना की जांच कर कार्रवाई की बात कह रहे हैं। मृतक महिला को चोरी के आरोप में पकड़ा गया था।

उन्नाव जनपद के खतही मगरवारा की रहने वाली महिला सुदामा को कानपुर कमिश्नरेट की नवाबगंज थाना पुलिस चोरी के मामले में पकड़ा था। महिला से पूछताछ के बाद नवाबगंज पुलिस ने महिला को रविवार की रात स्वरूप नगर में बने रानी लक्ष्मीबाई आशा ज्योति केंद्र में दाखिल किया था। सोमवार को महिला का शव फांसी के फंदे से लटका हुआ मिला। बाथरूम में महिला का शव लटका देख आशा ज्योति केन्द्र में कार्यरत कर्मियों के होश उड़ गए। जिसके बाद पुलिस को एक महिला के द्वारा जानकारी दी गई आशा ज्योति केंद्र में चोरी के मामले में पकड़कर लाई गई महिला ने फांसी लगा ली है। इस घटना की सूचना पर मौके पहुंची पुलिस ने महिला के शव को अपने कब्जे में लेकर परिजनों को पूरी जानकारी दी।

एसीपी स्वरूप नगर ब्रजनारायण सिंह ने बताया कि एक महिला को चोरी के मामले में नवाबगंज पुलिस ने लाई थी। रात हो जाने पर उसे आशा ज्योति केन्द्र में शिफ्ट किया गया था। जहां उसने फांसी लगा ली।

घटना को लेकर डीसीपी पश्चिम बीबीजीटीएस मूर्ति ने बताया कि महिला द्वारा आशा ज्योति केन्द्र में फांसी लगाने की मामला सामने आया है। प्रकरण की जांच कर कार्रवाई की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम भेजते हुए कार्रवाई की जा रही है।

इस मामले में सूत्रों की माने तो आशा ज्योति केन्द्र में रात्रि ड्यूटी पर कार्यरत जिम्मेदारों पर लापरवाही के चलते कार्यवाही अमल में लाई जा सकती है।

हिन्दुस्थान समाचार/महमूद/मोहित

Leave A Reply

Your email address will not be published.