home page

हरियाणा के 10 शहरों में चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, एक बार चार्ज होने पर दौड़ेगी 200 KM

दिल्ली के बाद हरियाणा ने भी इलेक्ट्रिक बसों के संचालन का फैसला लिया है। इन बसों को चलाने के लिए प्रदेश के 10 जिलों का चयन किया गया है।
 | 
हरियाणा के 10 शहरों में चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, एक बार चार्ज होने पर दौड़ेगी 200 KM

दिल्ली के बाद हरियाणा ने भी इलेक्ट्रिक बसों के संचालन का फैसला लिया है। इन बसों को चलाने के लिए प्रदेश के 10 जिलों का चयन किया गया है। इसके लिए राज्य सरकार ने 800 इलेक्ट्रिक बसों को खरीदने की तैयारी कर ली है।

इनमें 600 बसें नॉन एसी और 200 बसें एयरकंडीशन युक्त होंगी। यह भी बताया जा रहा है कि एक बार चार्ज होने पर बस 200 किलोमीटर तक दौड़ेगी। बिना एयरकंडीशन वाली बसों का किराया आम बसों की तरह से रहेगा, जबकि एयरकंडीशन वाली बसों में सफर करने के लिए अधिक भुगतान करना होगा। बताया गया है कि एसी बसों का किराया आम बसों के मुकाबले डेढ़ गुणा अधिक रहेगा।

नगर निगम करेंगी संचालन

बता दें कि परिवहन विभाग का मानना है कि इन बसों का संचालन संबंधित नगर निगमों को सौंपा जाएगा। इसके अलावा स्पेशल पर्पज व्हीकल योजना से भी इन बसों को चलाया जा सकता है। हरियाणा के परिवहन मंत्रालय द्वारा इन बसों को खरीदने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजा जाएगा।

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया कि इस प्रस्ताव को स्वीकृति मिलते ही सडक़ों पर इलेक्ट्रिक बसों को उतार दिया जाएगा। श्री शर्मा ने बताया कि उम्मीद है कि नवबंर महीने से इन नई बसों को आम लोगों के लिए सडक़ों पर चलाया जाएगा।

हर महीने बसों की संख्या में बढ़ोत्तरी की जाती रहेगी। इनके अलावा परिवहन मंत्रालय ने 2000 नई बसों को खरीदने की तैयारी भी कर ली है। राज्य सरकार के बजट में इन बसों को खरीदने का प्रस्ताव शामिल किया जा चुका है।

ये होगी इन बसों की अवधि

इन बसों के लिए हरियाणा परिवहन विभाग ने सीईसीएल कंपनी से संपर्क कर लिया है। कंपनी से वार्ता शुरू कर दी गई है। इलेक्ट्रिक बसों को चलाने के लिए कंपनी की ओर से ड्राईवर, चार्जिंग स्टेशन, रिपेयरिंग, बिजली खर्च कंपनी वहन करेगी।

एक बस को चलाने की अवधि 12 साल या फिर 10 लाख किलोमीटर रहेगी। एक बार चार्जिंग होने पर बस 200 किलोमीटर तक चलेगी। एक बस की लंबाई 12 मीटर तक रहेगी, जिसमें 50 से अधिक सवारियों के बैठने का प्रबंध होगा। मुख्यमंत्री कार्यालय से अनुमति मिलते ही नवंबर में यह बसें राज्य में आनी शुरू हो जाएंगी।

इन शहरों में चलेंगी बसें

बताया गया है कि इन बसों को प्रथम चरण में फरीदाबाद, गुरूग्राम, पानीपत, अंबाला, यमुनानगर, हिसार, रोहतक, करनाल, सोनीपत तथा पंचकूला में चलाया जाएगा। इलेक्ट्रिक बसों का संचालन एक से दूसरे शहर में भी करने की योजना है।

इन बसों को एक चार्जिंग पर 200 किलोमीटर चलाया जा सकेगा, इसलिए यह आसानी से एक से दूसरे शहर में आ जा सकती हैं। इसके अलावा इन दसों शहरों के बस स्टैंड पर चार्जिंग प्वाइंट भी स्थापित होंगे, ताकि बसों को चार्ज किया सके। इलेक्ट्रिक बसों से प्रदूषण तो कम होगा ही, साथ ही डीजल के मुकाबले खर्च भी घट जाएगा। इससे परिवहन विभाग को लाभ होने की उम्मीद बढ़ जाएगी।