home page

हरियाणा रोडवेज की बसों पर अब रहेगी पैनी नजर, ई टिकटिंग से मिलेंगी टिकट

हरियाणा में यातायात सुविधाओं को बेहतर बनाने का काम किया जा रहा है। हरियाणा सरकार भी यात्रियों को सरकारी यातायात साधनों में बेहतर अनुभव देने के लिए कई कदम उठा रही है।
 | 
हरियाणा रोडवेज की बसों पर अब रहेगी पैनी नजर, ई टिकटिंग से मिलेंगी टिकट

हरियाणा में यातायात सुविधाओं को बेहतर बनाने का काम किया जा रहा है। हरियाणा सरकार भी यात्रियों को सरकारी यातायात साधनों में बेहतर अनुभव देने के लिए कई कदम उठा रही है। वहीं अब हरियाणा रोडवेज बसों में ई टिकटिंग सिस्टम को शुरू किया जाने वाला है।

हरियाणा के रोहतक डिपो में भी अब जल्द ही ई टिकटिंग मशीने पहुँचने वाली हैं। इससे यात्रियों को भी काफी फायदा होगा।

रोहतक डिपो की बसों में काम करने वाले कर्मचारियों को भी इस नए सिस्टम की जानकारी दी जा रही है। कहा जा रहा है कि इस नए सिस्टम से यात्रियों को तो फायदा होगा ही साथ ही रोडवेज को भी फायदा हो जाएगा। अब बसों में टिकटों की धोखाधड़ी को भी रोका जाएगा। इसके लिए प्रयास भी शुरू कर दिये गए हैं। आइए जानते हैं खबर से जुड़ी खास बातें

रोहतक डिपो पर भेजी जाएंगी ई टिकटिंग मशीन

कहा जा रहा है कि हरियाणा के रोहतक डिपो पर जुलाई के आखिर में या अगस्त के पहले सप्ताह तक ई टिकटिंग मशीन भेज दी जाएंगी । इसके लिए कर्मचारियों को ट्रेनिंग देना भी शुरू कर दिया गया है। कुछ दिन पहले ही कर्मचारियों को रोहतक से मुख्यालय भी बुलाया गया था। इस दौरान ही कर्मचारियों को इस ई टिकटिंग मशीन के बारे में बताया गया और इसका प्रशिक्षण भी दिया गया। फिलहाल रोहतक डिपो में 205 बसें हैं।

इनमें से 195 बसें रोजाना अलग अलग रूट पर सफर करती हैं। इन बसों में अब जल्द ही ई टिकटिंग सिस्टम के जरिये ही टिकट दी जाने वाली है। अभी हर बस में चालक और परिचालक के साथ एक कंडक्टर भी लगाया जाने वाला है जो यात्रियों को डमी के तौर पर ई टिकट देगा।

ऐसे में यदि मशीनों में या सिस्टम में कोई कमी नज़र आती है तो उसे दूर किया जाएगा। इसमें टिकट का किराया एडवांस में फीड किया जाता है और कोड दबाने पर ये टिकट प्रिंट दे देता है।

जीपीएस सिस्टम से की जाएगी बसों की मोनिट्रिंग

कहा जा रहा है कि इस सिस्टम के चालू होने के बाद टिकट छपाई पर लाखों रूपये की बचत भी होने वाली है जिससे सरकार को लाभ मिलेगा। वहीं अब परिचालक भी बिना टिकट के अपने परिचित को बस में बिठा नहीं सकते हैं।

इसके लिए मशीनों में लगे जीपीएस सिस्टम के जरिए हरियाणा रोडवेज की बसों पर पैनी नजर रखी जाएगी। वहीं बस के रूट की जानकारी भी अब ऑनलाइन मिल जाएगी।