home page

दिल्ली से पानीपत के रास्ते करनाल तक हर दस मिनट में चलेगी रैपिड रेल, बनेंगे 17 स्टेशन

इन स्टेशनों का मिलेगा लाभ हालांकि रैपिड रेल को पहले दिल्ली से पानीपत तक ही लाए जाने की योजना थी।
 | 
दिल्ली से पानीपत के रास्ते करनाल तक हर दस मिनट में चलेगी रैपिड रेल, बनेंगे 17 स्टेशन

जल्द ही हरियाणा में चारों ओर रैपिड रेल का जाल बिछता हुआ दिखाई देगा। दिल्ली से हरियाणा को रैपिड रेल के जरिए जोडक़र सरकार अपने प्रदेश को विकास में अव्वल साबित करने की पूरी योजना पर काम कर रही है।

सरकार का मानना है कि दिल्ली और हरियाणा के दूर इलाकों में स्थित शहरों के बीच कनेक्टिविटी जितनी आसान होगी, उतना ही बिजनेस व युवाओं के लिए नौकरी के दरवाजे खुलेंगे। इससे प्रदेश की उन्नति और तेजी से होगी।

यही वजह है कि हरियाणा में जहां एक ओर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को तेज रफ्तार से विकसित किया जा रहा है, वहीं अब दिल्ली से पानीपत के रास्ते करनाल तक रैपिड रेल को बिछाए जाने की योजना पर भी काम चल रहा है। इसके लिए डीपीआर भी स्वीकृत हो चुकी है।

दिल्ली से करनाल के बीच होंगे 17 स्टेशन दिल्ली से करनाल तक हाईवे के साथ-साथ रैपिड रेल चलाए जाने की योजना को तेजी से आकार दिया जा रहा है। हालांकि पहले इसे रेल लाईन के साथ लाए जाने की योजना थी, मगर अब इसे बदलकर हाईवे के साथ चलाए जाने की प्लानिंग बनाई गई है।

नई दिल्ली से करनाल के बीच 17 स्टेशन बनाए जाने प्रस्तावित हैं। इससे दिल्ली और करनाल की दूरी घटकर मात्र एक घंटे की रह जाएगी। जबकि फिलहाल सडक़ मार्ग से दिल्ली जाने में करनाल के लोगों को दो से ढाई घंटे का समय लगता है। मगर अब लोग महज एक घंटे में यह सफर तय कर सकेंगे।

इन स्टेशनों का मिलेगा लाभ हालांकि रैपिड रेल को पहले दिल्ली से पानीपत तक ही लाए जाने की योजना थी। पंरतु करनाल के लोगों ने इसे अपने शहर तक लाने की मांग सरकार केसमक्ष उठाई।

तब मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों की आवाज को सुना और उन्हें लगा कि जब यह प्रोजेक्ट पानीपत तक लाया जा सकता है तो इसे बढ़ाकर करनाल तक भी पहुंचाया जा सकता है। इससे पानीपत के साथ साथ करनाल के लोगों को भी फायदा होगा। इस पर गंभीरता पूर्वक मंथन करने के बाद सरकार ने केंद्र के समक्ष यह मुददा रखा और उसे सहमति मिल गई।

हरियाणा के प्रस्ताव को मिली मंजूरी हरियाणा के प्रस्ताव को मानते हुए केंद्र ने रैपिड रेल को पानीपत के बाद करनाल तक लाने पर सहमति प्रदान कर दी। बताया गया है कि इस प्रोजेक्ट के लिए सैंपल लेने व उनकी जांच का काम पूरा हो चुका है।

दिल्ली व करनाल के बीच स्टेशन से लेकर रूट तक तय कर लिया गया है। रैपिड रेल के लिए कई ऐसे स्टेशन बनाने तय किए गए हैं, जिनका लाभ करनाल के अलावा आसपास के लोगों को भी मिल सके। इसके लिए करनाल जिले में पानीपत की ओर से आते हुए सबसे पहला स्टेशन घरौंडा को बनाने का निर्णय लिया गया है।

इसके साथ ही दूसरा स्टेशन ऊंचा समाना में और तीसरा स्टेशन बलडी बाईपास के नजदीक बनाया जाने की जानकारी दी गई है।

10 मिनट में चलेगी रैपिड रेल ये तीनों स्टेशन हाईवे के साथ लगते हुए बनाए जाने की योजना है। इसी तरह से बलडी में जो स्टेशन प्रस्तावित है, वह बस स्टैंड के पास स्थित है। यानि कि बस के माध्यम से आसपास के इलाकों से आने वाले लोग भी रैपिड रेल का लाभ ले सकें।

बताया गया है कि इस रूट पर हर दस मिनट के भीतर रैपिड रेल उपलब्ध होगी। इसका सीधा सा लाभ लोगों को आसान परिवहन सेवा के रूप में उपलब्ध होगा।