AC का ज्यादा इस्तेमाल करने पर भी नहीं बढ़ेगा बिजली का बिल, इन बातों पर रखना होगा ध्यान

उत्तर भारत में भीषण गर्मी का कहर काफी समय से जारी हो गया है। चिलचिलाती धूप की वजह से बच्चों से लेकर बूढ़ों तक का हाल बेहाल होना शुरु हो जाता है। जिसकी वजह से AC की डिमांड में काफी अधिक बढ़ोतरी हो चुकी है।

AC से कमरे को ठंडा रखने में काफी हद तक मदद मिल सकती है। लेकिन, इससे बिजली के बिल में काफी अधिक बढ़ोतरी हो जाती है। इसीलिए आज हम आपको इस लेख के माध्यम से कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिसको फॉलो कर के आप बिजली के बिल को कम रखने में मदद कर सकते हैं।

स्टडीज से ये मालूम हुआ है कि तापमान में हर डिग्री की बढ़ोतरी से करीब 6 % बिजली की बचत होना शुरु हो जाती है। आप अपने एसी का तापमान जितना भी कम तापमान रखेंगे, उसका कंप्रेसर उतनी देर काम करेगा, जिससे आपका बिजली बिल बढ़ना शुरु हो जाता है। इसलिए यदि आप एसी को उसके डिफ़ॉल्ट तापमान पर चालू रखना चुनते हैं, तो आप 24 प्रतिशत तक बिजली बचाने में मदद मिल सकती है।

लीकेज की दिक्कत ज्यादातर Window AC के साथ होना शुरु हो जाती है। Window AC और विंडो फ्रेम के बीच कुछ गैप्स होने की वजह कूलिंग की एफिशिएंसी पर असर पड़ना शुुर हो जाता है। यूजर्स इन सील्स को mSeal जैसे मल्टीपरपस सीलेंट से बंद करने के बाद फायदा मिलना शुरु हो जाता है।

टाइमर सेट करने के बाद मिलेगा फायदा

कई बार लोग बिजली बिल बचाने को लेकर बात करें तो बार-बार AC को ऑन-ऑफ करना शुरु करते हैं। इसके लिए आप टाइमर सेट करना होता है। इससे एसी अपने समय पर खुद बंद हो जाता है।

AC के साथ पंखे का करना होगा इस्तेमाल

जब एसी चल रहा होता है तो सीलिंग फैन चालू रखना होता अहम माना जाता है। इसके अलावा, छत के पंखे कमरे को हवादार रखते हैं और सभी कोनों में ठंडी हवा प्रसारित करना होता है। जिससे आपको एसी का तापमान कम नहीं करना पड़ता है।

AC की सर्विस टाइम पर करवाना होता है जरुरी

AC के डक्ट और वेंट में गंदगी जमा होने की वजह से एसी को ठंडी हवा को कमरे में लाने के लिए ज्यादा मेहनत करना अहम होता है। गंदे फिल्टर को हटाकर नया फिल्टर लगाने से एसी की ऊर्जा खपत 5 से 15 प्रतिशत तक कम होना शुरु हो जाती है। इसके साथ एसी को खराब होने और रिपेयर करने से भी बचाने के बाद फायदा मिल सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.