पंजाब में ऑपरेशन लोटस, आप विधायकों को 25-25 करोड़ के लालच का आरोप, शिकायत पर प्रकरण दर्ज

0

गोवा में कांग्रेस के 8 विधायकों और दमन-दीव में जेडीयू से जुड़े जिला पंचायत सदस्यों के पाला बदलकर बीजेपी में शामिल होने के बाद अब आम आदमी पार्टी को भी अपने विधायकों को लेकर खतरा सता रहा है.

पार्टी का आरोप है कि बीजेपी उनके विधायकों को खरीदने के लिए तरह-तरह का प्रलोभन दे रही है. उन्हें 25-25 करोड़ रुपये के साथ ही पार्टी में अच्छा पद देने का भी ऑफर दिया जा रहा है. पार्टी ने इस मामले में पंजाब (Punjab) के डीजीपी से मिलकर जांच और कार्रवाई की मांग की है.

राज्य के डीजीपी को दी शिकायत

सूत्रों के मुताबिक पंजाब (Punjab) के वित्त मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने बुधवार को इस मुद्दे पर पार्टी विधायकों के साथ राज्य के डीजीपी गौरव यादव से मुलाकात की और इस मामले की गहन जांच की मांग की. उनके साथ पार्टी विधायक बुध राम, कुलवंत पंडोरी, मंजीत सिंह बिलासपुर, दिनेश चड्ढा, नरिंदर कौर भराज, रमन अरोड़ा, पुष्पिंदर सिंह हैप्पी, कुलजीत सिंह रंधावा और लाभ सिंह उगोके भी शामिल थे. 

मीडिया से बात करते हुए हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि जिन राज्यों में बीजेपी की सरकार नहीं बन पाई, वहां पर अब भय-लालच से विधायकों को तोड़ने का अभियान चला रही है. इस मामले की निष्पक्ष जांच के लिए डीजीपी गौरव यादव को सभी सबूतों के साथ एक औपचारिक शिकायत दी गई है. उन्होंने आरोप लगाया कि जालंधर पश्चिम सीट से पार्टी विधायक शीतल अंगुरल को जान से मारने की धमकी देने के आरोप में बीजेपी नेताओं और एजेंटों के खिलाफ भी शिकायत दर्ज कराई गई है. 

‘सीबीआई और ईडी को बनाया मोहरा’

चीमा ने कहा कि बीजेपी एजेंटों ने पंजाब में सरकार गिराने के लिए AAP के 35 विधायकों को तौर पर पार्टी से अलग करने की कोशिश की थी. इसके लिए बीजेपी नेताओं सीबीआई और ईडी को अपना मोहरा बना रखा है. उनके जरिए छापे डलवाकर विपक्षी नेताओं को डराने की कोशिश की जा रही है.

लेकिन पंजाब में बीजेपी का‘ऑपरेशन लोटस’ (Operation Lotus) पूरी तरह से विफल हो गया है. पंजाब के वित्त मंत्री ने दावा किया कि अन्य राज्यों में आप के बढ़ते ग्राफ से भाजपा को खतरा महसूस हो रहा है, जिसके चलते वह ऐसी गिरी हुई हरकतें कर रही है.  

‘पंजाब में फेल हुआ ऑपरेशन लोटस’

उन्होंने कहा कि भाजपा पंजाब में अपनी कुटिल साजिशों में कभी सफल नहीं होगी, भले ही वे 2,200 करोड़ रुपये की पेशकश करें. अरविंद केजरीवाल और मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के वफादार सैनिक चट्टान की तरह खड़े हैं.

इस बीच, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि भाजपा का ‘ऑपरेशन लोटस’ (Operation Lotus) पहले दिल्ली में विफल रहा था, जहां वह आप विधायकों को नहीं खरीद सकी थी. अब उन्होंने पंजाब में छह-सात विधायकों से संपर्क करने की कोशिश की है. विधायकों को पैसे की पेशकश की गई लेकिन वह भी फेल हो गया.  

पंजाब पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

पंजाब पुलिस ने AAP के विधायकों को खरीदने की कोशिश के आरोप में बुधवार को मुकदमा दर्ज कर लिया. पंजाब पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि राज्य के कुछ विधायकों की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के बाद पंजाब पुलिस ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा आठ और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 171-बी और 120-बी के तहत प्राथमिकी दर्ज की है. केस दर्ज करने के बाद मामले को जांच के लिए विजिलेंस डिपार्टमेंट को ट्रांसफर कर दिया गया है. 

कांग्रेस-बीजेपी ने उड़ाया मजाक

पंजाब की AAP सरकार के इस एक्शन का विपक्ष ने मजाक उड़ाया है. विपक्षी कांग्रेस ने AAP सरकार को चुनौती दी कि अगर उसे अपने विधायकों के बिकने का खतरा सता रहा है तो वह हाईकोर्ट की देखरेख में एक स्वतंत्र एजेंसी से इस मामले की जांच करवाए.

वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुग ने सत्तारूढ़ दल के दावों को सबसे हास्यास्पद मजाक बताते हुए इन आरोपों की सीबीआई से जांच कराने की मांग की. चुग ने कहा, ‘AAP पंजाबियों से खेल रही है. वे लोगों का ध्यान उस घोर भ्रष्टाचार से हटाना चाहते हैं जो आम आदमी पार्टी की सरकार ने पंजाब में शराब नीति में किया है.’ 

Leave A Reply

Your email address will not be published.