कांग्रेस में नहीं थम रहा पार्टी छोड़ने का सिलसिला, दो पूर्व विधायकों ने दिया इस्तीफा

गंगोत्री के पूर्व विधायक विजय पाल सजवाण और पुरोला के पूर्व विधायक मालचंद ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उत्तरकाशी जिले में कांग्रेस के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है। पिछले दिनों ही उत्तरकाशी नगरपालिका के निवर्तमान अध्यक्ष रमेश सेमवाल ने भी पार्टी छोड़ दी थी।

कांग्रेस में पार्टी छोड़ने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। गढ़वाल संसदीय सीट के पूर्व प्रत्याशी मनीष खंडूड़ी ने कांग्रेस छोड़ कर पार्टी को झटका दिया था। अब टिहरी लोकसभा सीट पर कांग्रेस के दो पूर्व विधायकों ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया है। दोनों पूर्व विधायक आज शनिवार को भाजपा में शामिल हो सकते हैं। पार्टी के सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है।

एआईसीसी के सदस्य रहे सजवाण ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा को अपना इस्तीफा भेजा दिया है। जिसमें उन्होंने इस्तीफा देने की व्यक्तिगत वजह बताई है। राजनीतिक गलियारों और उत्तरकाशी जिलों में दो दिन पूर्व से चर्चाओं का बाजार गर्म था कि सजवाण जल्द भाजपा का दामन थाम सकते हैं।

पुरोला विस के पूर्व विधायक मालचंद ने भी अपना इस्तीफा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को भेज दिया है। मालचंद पूर्व में भाजपा में रहे हैं।

उधर, जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनीषा राणा ने कहा कि जिस पार्टी ने सजवाण को 20 सालों तक शीर्ष नेतृत्व में रखा, दो बार विधायक बनाया। उसे छोड़कर जाना कहीं न कहीं कार्यकर्ताओं को निराश करता है।

उधर, भाजपा के जिलाध्यक्ष हरीश डंगवाल ने कहा कि भाजपा की विचारधारा और मोदी और धामी के नेतृत्व और नीतियों से प्रभावित होकर जो भी पार्टी में आना चाहता है। उनका स्वागत है। अगर विजयपाल सजवाण भाजपा में शामिल होते हैं तो इससे लोकसभा चुनाव में भाजपा को इसका लाभ होगा। क्योंकि भाजपा को मोदी को मजबूत करना है।

मुझे अभी दो पूर्व विधायकों का इस्तीफा नहीं मिला है। इस समय कांग्रेस पार्टी सांप्रदायिक ताकत और संविधान को बचाने की लड़ाई लड़ रही है। ऐसे में समय में पार्टी छोड़ कर जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। पूर्व विधायकों के इस कदम से पार्टी आहत है। पार्टी ने उन्हें पूरा मान सम्मान दिया। यदि किसी तरह की नाराजगी थी तो उन्हें पार्टी फोरम पर रखनी चाहिए।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *