BPL राशन कार्ड: सरकार ने इन लोगों को किया सूची से बाहर, जानिए क्या है वजह?

0

BPL Ration Card : बिहार सरकार उसी राशन कार्ड को आधार से लिंक करने की मांग कर रही है. इसके लिए एक निश्चित तिथि तय की गई है जिसका पालन करना जरूरी है. संक्षेप में कहा गया है कि इस प्रक्रिया में किसी भी तरह की अनियमितता होने पर राशन की आपूर्ति रोक दी जाएगी और कार्ड रद्द कर दिए जाएंगे.

दरअसल, कई उपभोक्ताओं की मृत्यु हो जाती है और उनके नाम पर राशन की व्यवस्था हो जाती है. कई उपभोक्ता राशन कार्ड बनवा लेते हैं. लेकिन उन्हें राशन नहीं मिलता. इसके बदले डीलर उनका राशन रख लेता है.

सरकार जानना चाहती है कि कितने लोगों ने ईकेवाईसी कराया है. सरकार ने यह भी कहा है कि ईकेवाईसी नहीं कराने वाले लोग 15 जून तक राशन से वंचित हो जाएंगे. जिनके पास राशन कार्ड नहीं है. कितने राशन कार्ड रद्द किए गए हैं।

हाल के महीनों में जिले के विभिन्न प्रखंडों में बड़ी संख्या में लोगों के राशन कार्ड रद्द किए गए हैं. इनमें वे लोग भी शामिल हैं जो राशन कार्ड के लिए अपात्र थे.

यहां तक कि जिनके पास पक्का मकान, बाइक, फ्रिज समेत अन्य संपत्ति है. उनके नाम से भी राशन कार्ड रद्द कर दिए गए हैं. यह कार्रवाई काफी धीमी है. अभी भी जिले में कुछ लोग ऐसे हैं. जो अपात्र होते हुए भी राशन कार्ड का लाभ उठा रहे हैं.

इतने राशन कार्ड रद्द

आपको बता दें कि ऐसी सूचना आ रही है कि कई लोगों के राशन कार्ड रद्द कर दिए गए हैं। जिसमें सीतामढ़ी जिले के 17564 राशन कार्ड रद्द किए गए हैं। इनमें सबसे ज्यादा रद्द किए गए राशन कार्ड डुमरा प्रखंड के हैं।

जिले के सभी प्रखंडों में राशन कार्ड रद्द होने की बात सामने आई है- बथनाहा में 342, डुमरा में 6733, मेजरगंज में 2030, परिहार में 664, स्वर्ण वर्ष में 292, नगर परिषद बैरगनिया में 930, नगर निगम के डुमरा क्षेत्र में 12 तथा निगम के सीतामढ़ी क्षेत्र में 300, बाजपट्टी प्रखंड में 732, बोखरा में 635, चोरौत में 189, नानपुर में 366, पुपरी में 688, सुरसंड में 272, बेलसंड प्रखंड में 1470, परसौनी में 2023 तथा बेलसंड नगर पंचायत के 166 राशन कार्ड रद्द किए गए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.