राहुल गांधी के खिलाफ दिल्ली में FIR दर्ज, जानिए क्या है आरोप

नई दिल्ली: दिल्ली में अधिवक्ता व सामाजिक कार्यकर्ता विनीत जिंदल (Vineet Jindal) ने तिलक मार्ग पुलिस स्टेशन में राहुल गांधी और कैथोलिक पादरी जॉर्ज पोन्नैया (Rahul Gandhi and Catholic priest George Ponnaiah) के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. राहुल गांधी के सामने जॉर्ज पोन्नैया द्वारा हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ की अपमानजनक टिप्पणी (Disparaging remarks) के विरोध में यह एफआईआर दर्ज की गई है.

बता दे की, इन दिनों कांग्रेस नेता राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा लेकर निकले हैं. तमिलनाडू के कन्याकुमारी (Kanyakumari of Tamil Nadu) में शुक्रवार को राहुल गांधी ने कुछ कैथोलिक पादरियों के साथ बैठक की थी. इस दौरान वहां पर पादरी जॉर्ज पोन्नैया भी थे.

बैठक में कांग्रेस नेता राहुल गांधी जॉर्ज पोन्नैया से एक सवाल पूछते हैं कि क्या जीसस क्राइट (ईसा मसीह) ईश्वर का एक रूप हैं. इसके जवाब में जॉर्ज पोन्नैया कहते हैं कि हां वह असली भगवान हैं. शक्ति (हिंदू देवी) जैसे नहीं हैं.

वहीं भाजपा ने राहुल गांधी के साथ बातचीत के दौरान ईसाई पादरी द्वारा हिंदू देवी शक्ति को लेकर की गई कथित टिप्पणियों वाले वीडियो का उल्लेख करते हुए आरोप लगाया कि यह विपक्षी दल के ‘हिंदू विरोधी’ चेहरे को दिखाता है.

इस पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने भाजपा पर अपनी नफरत की फैक्ट्री के जरिये भ्रामक सूचना फैलाने का आरोप लगाया और कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी भारत जोड़ो यात्रा के सफलतापूर्वक शुरू होने के बाद से और हताश हो गई है.

कई भाजपा नेताओं समेत अन्य लोगों द्वारा साझा किए गए वीडियो में जॉर्ज पोन्नैया के रूप में पहचाने गए पादरी को कथित तौर पर राहुल गांधी से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि ईसा मसीह ही असली भगवान हैं’. वह एक इंसान के रूप में प्रकट हुए. शक्ति की तरह नहीं.

पादरी कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या ईसा मसीह को भगवान माना जाता है या नहीं. भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने दावा किया कि इस वीडियो ने भारत जोड़ो यात्रा की वास्तविकता को उजागर कर दिया है.

उन्होंने इसे नवरात्र की शुरुआत से पहले देवी शक्ति का अपमान करार दिया. उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है, जब कांग्रेस ऐसे मामलों में शामिल हुई है, क्योंकि पार्टी पहले भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठा चुकी है.

संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि चुनाव के दौरान राहुल गांधी मंदिरों में जाने का दिखावा करते हैं, लेकिन चुनाव समाप्त होने के बाद इनका हिंदू-विरोधी चेहरा सामने आता है. संबित पात्रा ने कहा कि क्या यह भारत जोड़ो है? एक धर्म का दूसरे के तुष्टीकरण के लिए अपमान करना.

सामान्य तौर पर कांग्रेस, विशेष रूप से राहुल गांधी की हिंदुओं से नफरत अब कोई छिपा मामला नहीं रह गया है. राहुल गर्व के साथ इसे अपनी बांह पर पहनते हैं. राहुल गांधी द्वारा वास्तव में ‘भारत तोड़ो’.

इस बीच, अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव (संचार) जयराम रमेश ने कहा, भाजपा की हेट फैक्ट्री राहुल गांधी के संबंध में एक घटिया ट्वीट प्रसारित कर रही है. ऑडियो में जो कुछ भी रिकॉर्ड हुआ है, उससे इसका कोई संबंध नहीं है उन्होंने ट्वीट किया, यह भाजपा का विशिष्ट तुच्छ तरीका है. भारत जोड़ो यात्रा की सफल शुरुआत और लोगों द्वारा मिल रहे समर्थन को देखकर ये हताश हो गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *