हरियाणा की पूर्व मंत्री ने छोड़ा कांग्रेस का साथ, थामा भाजपा का हाथ

कुछ दिन पहले ही उनके बेटे और उद्योगपति नवीन जिंदल कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुके हैं। 84 वर्षीय सावित्री जिंदल ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में कांग्रेस छोड़ने के अपने फैसले की घोषणा की है।

उन्होंने हिंदी में पोस्ट किया, ‘‘मैंने एक विधायक के रूप में 10 वर्ष तक हिसार के लोगों का प्रतिनिधित्व किया और एक मंत्री के रूप में निस्वार्थ भाव से हरियाणा राज्य की सेवा की है। हिसार के लोग मेरा परिवार हैं और अपने परिवार की सलाह पर, मैं आज कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रही हूं।’’

फोर्ब्स इंडिया ने इस साल सावित्री जिंदल को देश की सबसे अमीर महिला के रूप में सूचीबद्ध किया है। फोर्ब्स की भारत की 10 सबसे अमीर महिलाओं की सूची के अनुसार, सावित्री जिंदल, जो दिवंगत उद्योगपति और पूर्व मंत्री ओपी जिंदल की पत्नी हैं, की कुल संपत्ति 29.1 अरब अमेरिकी डॉलर यानी 24.27 हजार करोड़ रुपये बताई गई है। 

सावित्री जिंदल हरियाणा में पिछली भूपिंदर सिंह हुड्डा के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में मंत्री थीं। 2014 के लोकसभा चुनाव में वह हिसार से बीजेपी के डॉ. कमल गुप्ता से हार गई थीं। गुप्ता वर्तमान में नायब सिंह सैनी सरकार में मंत्री हैं। प्रसिद्ध उद्योगपति और हरियाणा के पूर्व मंत्री ओ पी जिंदल और सावित्री जिंदल के बेटे नवीन को आगामी लोकसभा चुनाव में कुरूक्षेत्र से भाजपा का उम्मीदवार बनाया गया है।

कांग्रेस सांसद के रूप में 2004-14 तक लोकसभा में कुरूक्षेत्र निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले नवीन जिंदल ने रविवार को पार्टी छोड़ दी थी और कहा था कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘विकसित भारत’ के एजेंडे में योगदान देना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *