क्या आप जानते हैं? बचत खाते में भी मिल सकता है FD जैसा ब्याज, ये है स्मार्ट ट्रिक

0

Saving Account Tips : हर कोई ज्यादा से ज्यादा कमाना चाहता है। इसके लिए वो ज्यादा से ज्यादा निवेश भी करता है। कई लोग सुरक्षित निवेश के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश करते हैं। 

अगर सेविंग अकाउंट की बात करें तो इसमें निवेश स्कीम से ज्यादा ब्याज नहीं मिलता। अगर आप सेविंग अकाउंट पर ज्यादा ब्याज पाना चाहते हैं तो ऑटो स्वीप सुविधा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आज हम आपको बैंक की ऑटो स्वीप सुविधा के बारे में बताएंगे। इस सुविधा में आपको सेविंग अकाउंट पर FD जैसा ब्याज मिलता है। इस सुविधा को शुरू करने के लिए आपको बैंक में जाकर रिक्वेस्ट देनी होगी।

स्वीप सुविधा में बैंक ग्राहक के सेविंग अकाउंट पर एक तय रकम से ज्यादा रकम को स्वीप इन डिपॉजिट में ट्रांसफर कर देता है। इसे ऐसे समझें कि अगर आपने ऑटो स्वीप के लिए 10,000 रुपये की लिमिट तय की है तो जैसे ही आपके अकाउंट में 10,000 रुपये से ज्यादा रकम आएगी तो वो अपने आप स्वीप इन डिपॉजिट में ट्रांसफर हो जाएगी।

हर बैंक में स्वीप इन डिपॉजिट की अवधि अलग-अलग होती है। कई बैंकों में इस डिपॉजिट की अवधि 5 साल है, जबकि कई बैंकों में यह अवधि सिर्फ 1 साल है। इस सुविधा में सभी बैंकों की ब्याज दर अलग-अलग है और यहां तक कि इस सुविधा का नाम भी अलग-अलग है।

बैंक में इस सुविधा का क्या नाम है?

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) में ऑटो स्वीप सुविधा का नाम स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सेविंग्स प्लस अकाउंट है। इसमें लिमिट से 100 रुपये के गुणकों में स्वीप-इन डिपॉजिट में पैसे ट्रांसफर किए जाएंगे।

HDFC बैंक में इस सुविधा का नाम स्वीप-इन फिक्स्ड डिपॉजिट है।

ICICI बैंक में इस सुविधा का नाम फ्लेक्सी डिपॉजिट है।

ऑटो-स्वीप सुविधा के लिए कौन पात्र है

ऑटो-स्वीप सुविधा का लाभ सभी बैंक ग्राहकों को नहीं मिलता है। इस सुविधा के लिए सभी बैंकों के अलग-अलग मापदंड हैं। इसके अलावा इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए ग्राहक को कम से कम 25,000 रुपये की FD खोलनी होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.